welcome હાર્દીક સ્વાગત Welcome

આ બ્લોગ ઉપર આવવા બદલ આપનું હાર્દીક સ્વાગત છે.

આ બ્લોગ ઉપર સામાન્ય રીતે ઉંઝા સમર્થક લખાંણ હોય છે જેમાં હ્રસ્વ ઉ અને દીર્ઘ ઈ નો વપરાશ હોય છે.

આપનો અભીપ્રાય અને કોમેન્ટ જરુર આપજો.

www.vkvora.in
email : vkvora2001@yahoo.co.in
Mobile : +91 98200 86813 (Mumbai)
https://www.facebook.com/vkvora2001
www.en.wikipedia.org/wiki/User:Vkvora2001
Wikipedia - The Free Encyclopedia

Monday, 10 August 2015

वांचो समाचार छेल्ला बे दीवसना टाईम्स ओफ ईन्डीआ, नवभारत टाईम्स, बीबीसी अंग्रेजी अने हीन्दीमां

वांचो समाचार छेल्ला बे दीवसना
टाईम्स ओफ ईन्डीआ, नवभारत टाईम्स, बीबीसी अंग्रेजी अने हीन्दीमां

4 comments:

  1. झारखंड की राजधानी रांची से 45 किलोमीटर दूर एक गांव में शुक्रवार रात 5 महिलाओं की कथित तौर पर डायन बताकर हत्या कर दी गई।

    उक्त गांव रांची के मंडार ब्लॉक के अंतर्गत आता है। ब्लॉक प्रशासन ने घटना की पुष्टि की है। उनका कहना है कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है। इस मामले में पुलिस ने अभी किसी को गिरफ्तार नहीं किया है।

    ReplyDelete
  2. http://www.bbc.com/hindi/india/2015/08/150808_jharkhand_witchcraft_women_murder_ac



    पुलिस के अनुसार झारखंड के रांची में डायन होने के आरोप में पांच महिलाओं की हत्या कर दी गई है.
    शुक्रवार आधी रात के बाद रांची से 37 किलोमीटर दूर मांडर थाने के कजिया गांव में कुछ लोगों ने घर का दरवाज़ा खोलकर महिलाओं को निकाला और फिर उनकी हत्या कर दी गई.
    सभी पांचों औरतें अलग-अलग परिवार की थीं.
    पुलिस ने इस सिलसिले में क़रीब दो दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है.
    सूबे में डायन होने के आरोप में महिलाओं की हत्या की जाती रही हैं.
    पुलिस के अधिकारियों के मुताबिक़ राज्य बनने के बाद से अब तक क़रीब इस तरह की घटनाओं में 1200 महिलाओं की मौत हो चुकी है.

    ReplyDelete
  3. http://www.bbc.com/hindi/india/2015/08/150810_jharkhand_witch_fast_track_sm


    झारखंड में कथित डायन हत्या और प्रताड़ना के मामलों की सुनवाई के लिए सरकार ने फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाने का फैसला किया है.
    राजधानी रांची के एक गांव में पिछले शनिवार को डायन होने के आरोप में पांच आदिवासी महिलाओं की हत्या के बाद राज्य के मुख्य सचिव राजीव गौबा ने उच्च स्तरीय बैठक कर हालात की समीक्षा की है.
    उनका कहना है कि पिछले तीन वर्षों में ऐसे सभी मामलों के शीघ्र निष्पादन के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन होगा और इसके लिए हाई कोर्ट से अनुरोध किया जाएगा.
    ढाई साल के दौरान राज्य में 124 लोगों की हत्या डायन-बिसाही के नाम पर हुई है.
    विशेष लोक अभियोजक
    मुख्य सचिव ने कहा है कि लंबित मामलों के शीघ्र निपटारे के लिए विशेष लोक अभियोजक (स्पेशल पब्लिक प्रोसीक्यूटर) नामित किया जाएगा.
    इसके साथ ही अब तक जिन मामलों में जांच जारी है, उसे एक महीने के अंदर पूरा करने कहा गया है.

    ReplyDelete

કોમેન્ટ લખવા બદલ આભાર

Recent Posts